इरीटेबल बोवेल सिंड्रोम का होम्योपैथिक इलाज(Homeopathic Treatment For Irritable Bowel Syndrome In hindi)

इरीटेबल बाउल सिंड्रोम(irritable bowel syndrome in hindi)

इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS) पेट की सबसे आम बिमारियों में से एक है। बहुत से लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। पेट में दर्द, कभी दस्त तो कभी कब्ज। पेट की दूरी, डकार, पेट में गड़गड़ाहट और अपूर्ण मल त्याग की भावना। यह तकलीफ अगर बहुत दिन तक चलती रहे तो तुरंत इलाज होना चाहिए l होम्योपैथमे इरीटेबल बोवल सिन्ड्रोम का  इलाज संभाव है l

खाने में गड़बड़ी के कारण पेट में गैस को नजरअंदाज कर दिया जाता है, लेकिन इसके कारण पेट दर्द, दस्त, सूजन जैसे लक्षण दिखाई देते हैं, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि इस समस्या की जड़ अपर्याप्त नींद, तनाव, गलत आहार है।

इरीटेबल बोवल सिन्ड्रोम  के लक्षण(Symptoms of Irritable Bowel Syndrome in hindi)

यह रोग युवावस्था में होता है। 45 वर्ष की आयु के बाद रोग की शुरुआत दुर्लभ है। बेशक, वयस्क और बुजुर्ग भी IBS से पीड़ित हो सकते हैं। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में इस रोग के होने की संभावना दो से तीन गुना अधिक होती है। IBS के मरीज दो मुख्य प्रकार के होते हैं। एक में रोगी को पेट दर्द के साथ-साथ डायरिया और कब्ज की शिकायत रहती है, वहीं दूसरे में बिना पेट दर्द के सिर्फ डायरिया ही बना रहता है।

पेट में दर्द, पेट का दाहिना और बायां हिस्सा, पेट के ऊपरी हिस्से में। कभी-कभी पेट दर्द। चाबी आती है। लगातार हल्का दर्द होने पर कभी-कभी तेज दर्द होता है।

कुछ भी खाने के बाद दर्द बढ़ जाता है, मानसिक तनाव के कारण दर्द ज्यादा महसूस होता है। शौच के बाद पेट दर्द कम हो जाता है। महिलाओं में यह समस्या मासिक धर्म से पहले या उसके दौरान बढ़ जाती है। कब्ज और बढ़ी हुई मल त्याग दोनों ही IBS के प्रमुख लक्षण हैं।

इरीटेबल बोवल सिन्ड्रोम का उपचार(Treatment of irritable bowel syndrome in hindi)

  1. आहार में फाइबर की मात्रा बढ़ाएँ। फल सब्जी का सेवन बढाए l
  2. पेट खराब होने से बचाने के लिए  होम्योपैथिक दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। डायरिया विकसित करने वाले रोगियों को डायरिया रोधी दवाएं दी जाती हैं।

होम्योपैथी में रोग के मूल कारण का पता लगाकर उसका उपचार किया जाता है। ऐसी कई दवाएं हैं जो इस बीमारी को ठीक कर सकती हैं। किसी विशेषज्ञ डॉक्टर के पास जाकर इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम से स्थायी राहत पाएं।

होमियो केयर क्लिनिक:

डॉ. वसीम चौधरी अपनी टीम के साथ विभिन्न  विकारों के कई रोगियों का सफलतापूर्वक इलाज किया है। डॉ. वसीम चौधरी पुणे के एक प्रसिद्ध होम्योपैथ और सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी चिकित्सक हैं। उन्होंने अपनी विशेषज्ञ टीम के साथ होमियो केयर क्लिनिक शुरू किया है। होम्योपैथी क्लीनिक की यह श्रृंखला पूरे पुणे में फैली हुई है। इसमें विविध क्षेत्रों के विशेषज्ञ डॉक्टर इलाज करते हैं। यदि आप अधिक जानकारी चाहते हैं, तो आज ही पुणे में केंद्र मे भेट दे सकते हैl