मोटापा(Obesity) – होम्योपैथी उपचार कैसे मदद कर सकता है?

जब मोटापे(Obesity) की बात आती है, तो हम सोशल मीडिया पर बहुत सारी ‘पहले’ और ‘बाद’ की तस्वीरें देखते हैं। दस दिनोमे मोटापा कम करो ,१ महिने मी १५ किलो वजन कम करो ऐसी कई विज्ञापन देखके हम प्रोत्साहित हो जाते है l असल में कम दिन मे  मोटापा कम करना यह सबका  लक्ष्य  होता हैl क्योंकी अधिक वजन हमारे स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालता हैl यह  देखा गया है कि डाइट और एक्सरसाइज का मंत्र भी कई लोगों के लिए फेल हो गया है। 25 से अधिक बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) को अधिक वजन माना जाता है, और 30 से अधिक को मोटापा(Obesity) माना जाता है। क्या  होम्योपैथी उपचार से मोटापा कम हो सकता है? आईये इसी विषय मे जानकारी लेते है l 

मोटापा बढ़ने के कारण 

अनुचित भोजन करने से मोटापा(Obesity) हो सकता है। फास्ट फूड खाना, बहुत अधिक शराब पीना, नियमित रूप से बाहर खाना इसके कारण हैं। इसके अलावा हमारी जीवनशैली में शारीरिक गतिविधियों की कमी बढ़ती जा रही है। आप एक दिन में जितनी कैलोरी जलाते हैं उससे अधिक कैलोरी खाने से आपको अधिक कैलोरी मिलती है। आनुवांशिकी भी आपको मोटापे का शिकार बना सकती है। इसके अलावा मोटापा चिकित्सीय कारणों से भी होता हैl

होम्योपैथी उपचार कैसे मदद कर सकता है?

होम्योपैथी मोटापे के कारणों, लक्षणों और रोगी के स्वभाव के आधार पर निर्धारित स्थिति के विभिन्न पहलुओं के लिए उपचार के साथ मोटापे(Obesity) का इलाज करती है। सही उपचार पर पहुंचने से पहले, एक होम्योपैथ आपके केस इतिहास की जांच करता हैl

मोटापे या वजन घटाने के लिए होम्योपैथिक दवाएं – 

  1. ग्रेफाइट्स -यह दवा मोटापा कम करने मे काम आती हैl  विशेष कर जब किसी महिला का रजोनिवृत्ति के आसपास वजन बढ़ने लगता है, तो ग्रेफाइट्स मोटापे के लिए सबसे अच्छी होम्योपैथिक दवाओं में से एक है। पुरुषोमे भी यह मोटापा कम करने मदद करती हैl 
  2. कैल्केरिया कार्ब – आजकल बच्चे भी मोटापा के शिकार होने लगे है ,  जब  मोटापा जल्दी शुरू हो जाता है, तो कैल्केरिया कार्ब मोटापे के लिए सबसे अच्छी होम्योपैथिक दवा में से एक है। 
  3. नेट्रम फॉस्फोरिकम – यदि एसिडिटी के कारण आपका वजन बढ़ रहा है, जिससे मुंह में खट्टा स्वाद और खट्टी डकारें आती हैं, तो नेट्रम फॉस्फोरिकम आपके लिए सबसे अच्छा उपाय हो सकता है। यह प्राकृतिक एंटासिड के रूप में कार्य करता है और शरीर के पीएच को संतुलित करता है। यह पेट में होने वाली जलन और अपच से भी राहत दिलाता है।
  4. फेरम मेट- जब रोगी को मोटा होने के बावजूद एनीमिया होता है, तो फेरम मेट मोटापे के लिए सबसे अच्छी होम्योपैथिक दवाओं में से एक है। खून की कमी,हाथ-पैर ठंडे, मांसपेशियाँ ढीली और मरीज़ इतना कमज़ोर है कि चलना या बात करना मुश्किल हो सकता है। 
  5. कैप्सिकम – जब कोई मानसिक और शारीरिक रूप से सुस्त होता है, आलसी होता है , तो कैप्सिकम मोटापे के लिए सबसे अच्छी होम्योपैथिक दवा हो सकती है। रोगी को कोई भी शारीरिक परिश्रम और मानसिक परिश्रम अच्छ न  लगे तो यह दव  काम करती है।

इसके अलावा  ऐंटिम क्रूडम, नैट्रम म्यूरिएटिकम, इग्नाटिया, पल्सेटिला निगरिकन्स यह दवा मरीज का मोटापा देखके दि जाती है,  होम्योपैथी उपचार मोटापा पर असरदार होता है,  होम्योपैथी तज्ञ की सलाह अवश्य ले l

होमियो केयर क्लिनिक:

डॉ. वसीम चौधरी अपनी टीम के साथ विभिन्न विकारों के कई रोगियों का सफलतापूर्वक इलाज किया है। डॉ. वसीम चौधरी पुणे के एक प्रसिद्ध होम्योपैथ और सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी चिकित्सक हैं। उन्होंने अपनी विशेषज्ञ टीम के साथ होमियो केयर क्लिनिक शुरू किया है। होम्योपैथी क्लीनिक की यह श्रृंखला पूरे पुणे में फैली हुई है। इसमें विविध क्षेत्रों के विशेषज्ञ डॉक्टर इलाज करते हैं। यदि आप अधिक जानकारी चाहते हैं, तो आज ही पुणे में केंद्र मे भेट दे सकते है l