Dr. Vaseem Choudhary

Home होमियोपैथिक ईलाज के दौरान कृपया निम्नलिखित विषयों पर ध्यान दें।

होमियोपैथिक ईलाज के दौरान कृपया निम्नलिखित विषयों पर ध्यान दें।

 होमियोपैथिक दवाईयों को तेज खुशबू, एवं गर्मी तथा सूरज की तेज रोशनी से दूर रखे।
 दवाई का सेवन करने के लिए दवाई की शीशी के ढक्कन का प्रयोग करे, कृपया हाथो से दवाई को न छूएं।
 दवाई के बेहतर असर के लिए दवाई को बिना पानी के सेवन करे दवाई के सेवन के १५ मिनट पहले या बादमें किसीभी प्रकार का जलपान ना करें।
 ईलाज के दौरान, तेज खुशबू जैसे Perfume, Body spray इत्यादि के संपर्क में आने से बचे, इससे दवाई की शक्ति पर असर पड़ता हैं।
चर्म (त्वचा पर)
 गर्म अथवा बर्फ का सेक, बाम, निल्गिरी का तेल, विक्स, मूव, तपकिर ईत्यादि औषधीयोका प्रयोग ना करे।
 आयुर्वेदिक तेल, होमियोपैथिक तेल, महा नारायणी तेल, इत्यादि तेलो से मानिश न करे।
 यदि किसीभी प्रकार का त्वचा पर चट्टे, फोडी या धाव हो जाए तो चंदन, हल्दी का लेप या डेटॉल / सेठलॉन इत्यादि का प्रयोग ना करें।
 बालो – हाथो पर मेहेंदी (हिना), कलर-डाई का प्रयोग न करें।
 सर्दी, खाँसी को रोकने के लिए किसी भी प्रकार के औषध का प्रयोग न करे।
 मेंथॉल की गोली जैसे पोलो, मेटॉस, मीन्ट, विक्स, क्लोरोमीन्ट, हॉल्स, पान मसाला, पान पराग का सेवन न करें।

Open chat